दोषी करार दिए गए सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेशवर राव Hindustan Headlines

इस मामले में दोषी करार दिए गए सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेशवर राव, SC ने लगाया 1 लाख का जुर्माना

नई दिल्ली : सीबीआई के पूर्व अंतरिम निदेशक नागेशवर राव को सुप्रीम कोर्ट ने मुजफ्फरपुर आश्रय गृह के जांच अधिकारी का सीआरपीएफ में तबादला करने के मामले में कड़ी फटकार लगायी। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने इस मामले में सख्ती दिखाते हुए कहा कि अदालत के एक कोने में चले जाएं और कार्यवाही खत्म होने तक वहां बैठे रहें। न्यायालय ने राव, सीबीआई के अभियोजन निदेशक को अदालत की आज की कार्यवाही खत्म होने तक हिरासत में रहने की सजा सुनाई और उन पर एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया।

सुनवाई के दौरान उच्चतम न्यायालय ने कहा कि राव और सीबीआई के विधि अधिकारी ने अदालत की अवमानना की है। बिना इजाजत जांच अधिकारी का तबादला करना यदि यह अवमानना नहीं है तो क्या है? न्यायालय ने कहा – उनका रवैया कुछ ऐसा रहा है कि मुझे जो करना था, वह मैंने किया है। वहीं सीबीआई की तरफ से अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल अदालत के सामने पेश हुए और उन्होंने माना कि यह गलतियों की श्रृंखला थी।

वेणुगोपाल ने अदालत से कहा कि उन्होंने बिना शर्त माफी मांगी है और उन्होंने ऐसा जानबूझकर नहीं किया। अदालत ने राव को कड़ी फटकार लगाई है। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने कहा, ‘अदालत के आदेश की अवमानना हुई है। यह उनके (पूर्व अंतरिम सीबीआई निदेशक एम नागेश्वर राव) करियर पर एक निशान होगा।’ इसपर वेणुगोपाल ने कहा, ‘उनका 32 सालों का बेदाग करियर रहा है। कृपया उनकी तरफ दयालु दृष्टिकोण को अपनाते हुए माफी को स्वीकार कर लें। राव ने खुद को अदालत की कृपा पर छोड़ा है।’

About Kanhaiya Krishna

Check Also

Respect Talent ने ओपन माइक के जरिये नए कलाकारों को दिया मंच

Respect Talent ने ओपन माइक के जरिये नए कलाकारों को दिया मंचRespect Talent gives platform …

अब इंतज़ार हुआ ख़त्म 4 दिन बाद होटल पार्क प्लाजा में होने जा रहा है फैशन एन्ड लाइफस्टाइल एक्सिबिशन

नई दिल्ली-दिल्ली में यु तो हर दिन कुछ न कुछ कार्यक्रम होते है लेकिन कुछ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *