महीनों से चक्कर काट रहे पीड़ित का मुकदमा समाजसेवियों की पहल पर दर्ज हुआ

राघवेंद्र तिवारी की रिपोर्ट :

लखनऊ : निगोहां के राती गांव में एक माह पूर्व पुरानी रंजिश के चलते अपने खेत देखने गए एक किसान को दबंग युवक ने लोहे की रॉड से हमला कर किसान के दोनों हाँथ तोड़ दिए थे। जिसके बाद पीड़ित पिछले एक महीने से डॉक्टरी रिपोर्ट लेकर थाने के चक्कर काट रहा था।और हल्का दरोगा टरका रहा था गुरुवार को जब कुछ समाजसेवियों की पहल पर एसओ ने पूरे मामले की हल्का दरोगा से पड़ताल कर फटकार लगायी जिसके बाद पीड़ित का मुकदमा दर्ज किया गया।

राती गांव के रहने वाले किसान नन्हा ने बताया कि बीते 26 दिसम्बर 18 को वह गांव बाहर नदी किनारे अपने खेत देखने गया हुआ था। तभी पास के गांव के रहने वाले बाऊवा उर्फ संतोष ट्रैक्टर से आया और पुरानी कहासुनी को लेकर गालियां देते हुए ट्रैक्टर में रखी लोहे की रॉड से उसकी पिटाई कर दी जिससे उसके दोनों हाँथ तोड़ दिए थे। जिसके बाद वह परिवारीजनों के साथ निगोहां थाने पहुंचकर मामले की तहरीर दी थी। जिस पर पुलिस ने एनसीआर दर्ज कर डॉक्टरी के लिए भेज दिया था। जहाँ से उसे बलरामपुर रेफर कर दिया गया था। जहाँ उपचार में उसके दोनों हांथो में फैक्चर निकला। जब से वह डॉक्टरी रिपोर्ट लेकर निगोहां थाने के चक्कर काट रहा था।जहाँ हल्के के एक दरोगा द्वारा उसका मुकदमा न दर्ज कर उसे थाने से दुत्कार कर भगा दिया जाता था। एसओ जगदीश पांडेय ने बताया पीड़ित की घटना के बारे में जानकारी नही थी दरोगा की लापरवाही फटकारा गया है।और एनसीआर में ही डॉक्टरी रिपोर्ट के आधार पर धाराएं बढ़ा दी गयी।

थाने के पास बिलखता देख समाजसेवियों ने की पहल

गुरुवार की शाम पीड़ित नन्हा निगोहा थाने के पास रोता बिलखता देख उससे समाजसेवी ने हाल लिया तो उसने आपबीती बताते हुए कहाकि पिछले एक महीने अपना मुकदमा दर्ज कराने के लिए थाने पर आता है पर हल्का दरोगा यह कहकर भगा देते है कि और भी काम यही नही बचा है।और पहले आरोपियों से पूछताछ होगी तब मुकदमा दर्ज होगा इसके बाद समाजसेवियों ने पूरे मामले को सोशल मीडिया पर वायरल कर पूरे घटनाक्रम से एसओ निगोहा जगदीश पांडेय को अवगत कराया इस पर एसओ हल्का दरोगा को फटकार लगाकर पीड़ित का मुकदमा दर्ज कराया।

दबंग के डर से घर छोड़ बाहर रह रहा था

पीड़ित ने बताया कि जब से दबंग ने लोहे की रॉड से उसके दोनों हाथ तोड़े थे। तब से वह पहले अपना इलाज कराने के लिए घर से बाहर था और जब अस्पताल से बाहर आया तो थाने के चक्ककर काट रहा था।इधर सुनवायी नही हो रही थी उधर दबंग गांव न रहने की धमकियां दे रहा था।

About Kanhaiya Krishna

Check Also

लखीमपुर हिंसा केस का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश

लखीमपुर हिंसा केस का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश

रिपोर्ट : सलिल यादव लखीमपुर हिंसा केस के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा जांच एजेंसी के …

कानपुर : बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन को AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी देंगे टिकट कानपुर से लड़ेंगी चुनाव

कानपुर : बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन को AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी देंगे टिकट कानपुर से लड़ेंगी चुनाव

रिपोर्ट : सलिल यादव   पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन कानपुर से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *