स्वास्थ्य सेवाओं में खिलवाड़ बर्दाश्त नही : जिलाधिकारी

प्रवीण मिश्रा की रिपोर्ट :

श्रावस्ती : लोगों को स्वस्थ्य रखे बिना सम्पूर्ण विकास की परिकल्पना नही की जा सकती है इसी के मद्देनजर भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार को जन-जन को स्वस्थ्य रखने का जो बीणा उठाया है इसके लिए सरकार द्वारा तमाम स्वास्थ्य योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों का दायित्व बनता है कि वे बेसिक शिक्षा, आई0सी0डी0एस0, पंचायत विभाग, स्वयं सेवी संगठनों तथा ग्राम प्रधानों से बेहतर तालमेल बनाकर उसे धरातल पर उतारें और जिले के हर नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं एवं मरीजों का टीकाकरण/बेहतर इलाज मुहैया कराकर उन्हे स्वस्थ्य बनावें ताकि जनपद का सर्वांगीण विकास हो सके।

उक्त विचार कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी दीपक मीणा ने व्यक्त किया। उन्होने जोर देते हुए कहा कि जिले में नवजात शिशुओं एवं गर्भवती महिलाओं के जागरूकता के अभाव में समय से टीकाकरण और इलाज न कराने पर उनकी मौत हो जाती है जो चिन्ता का विषय है यही कारण है कि इस जिले में नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं एवं प्रसूताओं की मृत्यु दर यंहा अधिक है। इसलिए हम सभी लोगों का दायित्व बनता है कि बेहतर ढंग से डोर-टू-डोर मानीटरिंग करके हर नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं को सूचीबद्ध करें और समय से उन्हे सरकार द्वारा प्रदत्त स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करावें ताकि उन्हे स्वस्थ्य रखा जा सके।

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया है कि सी0एच0सी0/पी0एच0सी0 में तैनात आर0बी0एस0के0 की टीम अपने-अपने स्कूल और आंगनवाडी केन्द्रों में समय से जाएं और बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के दौरान अतिकुपोषित बच्चों का विशेष रूचि लेकर चिन्हीकरण करें तथा समय से उनको पोषण पुनर्वास केन्द्र में भेजें ताकि उन बच्चों को कुपोषण से मुक्ति दिलाकर स्वस्थ्य किया जा सके।

जिलाधिकारी ने क्षय रोग नियत्रंण कार्यक्रम की समीक्षा की समीक्षा के दौरान यह पाया गया कि जिले में कुल 1572 लोग क्षय रोग से ग्रसित है इस पर जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जिले के सभी क्षय रोग से ग्रसित मरीजों को समय से दवाएं उपलब्ध कराई जाएं ताकि वे स्वस्थ्य हो सकें और सरकार द्वारा प्रदत्त सुविधाएं भी उन्हे हरहाल में मुहैया होनी चाहिए, क्षय रोग नियत्रंण कार्यक्रम में शिथिलिता पाये जाने पर उन्होने सम्बन्धित अधिकारी को ढंग से कार्य करने की नसीहत दी है।

जिलाधिकारी ने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी ए0एन0एम0 और आशा ड्यूलिस्ट सही ढ़ंग से तैयार करें तथा शत-प्रतिशत बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण भी करें यदि कोई भी बच्चा या गर्भवती महिलाएं टीकाकरण से वंचित रही तो सम्बन्धित के विरूद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि स्वास्थ्य निरीक्षक द्वारा अपने क्षेत्र के अन्तर्गत शत-प्रतिशत बच्चों को टीका लगाने हेतु माइक्रो प्लान, ड्यूलिस्ट एवं जो अभिभावक जागरूकता के अभाव में अपने बच्चों को टीकारण नही कराते हैं उनको प्रेरित करें तथा टीकाकरण व्यवस्था को पटरी पर लाकर शत-प्रतिशत बच्चों एवं गर्भवती महिलाओं को अपने-अपने क्षेत्रों में टीकाकरण कराने का निर्देश दिया।

उन्होने यह भी निर्देश दिया कि जो ए0एन0एम0 और आशा टीकाकरण कार्यक्रम में पूर्ण रूप से दक्ष नही है उन्हे भी दक्ष किया जाए ताकि जिले के नौनिहालों एवं गर्भवती महिलाओं को स्वस्थ्य रखा जा सके साथ ही उन्होने यह भी निर्देश दिया कि गर्भवती महिलाओं की हीमोग्लोबिन, ब्लड प्रेशन, वजन, सुगर, प्रोटीन सहित अन्य सभी जांच करना भी सुनिश्चित करें।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अवनीश राय, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वी0के0 सिंह, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पंचायतराज अधिकारी, डा0 मुकेश मातन हेलिया, डा0 एम0ए0 खान सहित प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहे.

About Kanhaiya Krishna

Check Also

लखीमपुर हिंसा केस का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश

लखीमपुर हिंसा केस का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश

रिपोर्ट : सलिल यादव लखीमपुर हिंसा केस के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा जांच एजेंसी के …

कानपुर : बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन को AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी देंगे टिकट कानपुर से लड़ेंगी चुनाव

कानपुर : बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन को AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी देंगे टिकट कानपुर से लड़ेंगी चुनाव

रिपोर्ट : सलिल यादव   पूर्व सांसद अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन कानपुर से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *