एम जी (मौरिस गैराज ) मोटर इंडिया ने दिल्ली में की देश की पहली प्योर इलेक्ट्रिक इंटरनेट एसयूवी ज़ेडएस ईवी लॉन्च

दिल्ली | 27 जनवरी 2020 को एम जी (मौरिस गैराज ) मोटर इंडिया ने देश की पहली प्योर इलेक्ट्रिक इंटरनेट एसयूवी ज़ेडएस ईवी लॉन्च की। भारत देश में पर्यावरण को लेकर सरकार जहां सजग है वही मोटर्स निर्माता ने इस पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए इलेक्ट्रिक कार सड़को पर उतारने की तैयारी कर ली है। भारत में सर्वप्रथम एमजी मोटर्स इंडिया ने आज दिल्ली के लोधी रोड स्थित स्कोप कॉम्प्लेक्स में इस इंटरनेट कार लॉन्च की। जिसकी बुकिंग 21 दिसंबर 1979 से 17 जनवरी 2020 की रात को बंद कर दी। इंटरनेट इलेक्ट्रिक जेडएस एसयूवी ईवी कार लॉन्च की जिसकी शुरूआती कीमत लगभग 20. 88 हजार रखी गई है। कीमत की घोषणा कर एमजी मोटर इंडिया के प्रेसिडेंट और एमडी राजीव चाबा ने कहा जेडएस ईवी विश्व स्तर पर एक सफल प्रोडक्ट है जो ईवी के टिकाऊपन एस यूवी की व्यावहारिकता और स्पोर्ट्स कार का प्रदर्शन देती है।
एमजी मोटर्स इंडिया से गौरव गुप्ता ने बताया की
बेस्ट ऑनरशिप अनुभव प्रदान करने की अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए कार निर्माता एमजी ईशील्ड पेश किया है .जो निजी तौर पर रजिस्टर्ड ग्राहकों को कार पर असीमित किलोमीटर के लिए 5 साल की मेन्युफैकचर वारंटी और बैटरी पर 8 साल /150 हजार किलो वारंटी प्रदान करता है .यह निजी तौर पर रजिस्टर्ड कारो के लिए 5 साल की अवधि के लिए राउंड – द-क्लॉक रोड साइड असिस्टेंस प्रदान करता है . साथ ही 5 लेबर फ्री सर्विसिस भी देता है . जेड एस ईवी एक रूपए प्रति किलोमीटर (100,000) किलोमीटर तक दिल्ली एन सी आर में लागू बिजली दरो के साथ साथ पार्ट्स कंसुमेबल्स लेबर और टैक्स सहित बचावात्मक रखरखाव के आधार पर )से कम की रनिंग कोस्ट के साथ आती है .यह 3 साल के लिए 7,७०० रूपए से शुरू होने वाले मेंटेनेंस पैकेज के साथ आती है .जेडएस ई वी के साथ एमजी ई शील्ड शुरू करने के आलावा जेड एस ई वी ग्राहकों के लिए वन स्टॉप सोल्युसन के तहत कंपनी अग्रणी “3-50” प्लान भी पेश कर रही है .जो रिसेल वैल्यू आश्वस्त करती है और यह लाभ खरीद के दौरान उचित राशि का भुगतान कर उठाया जा सकता है .कार निर्माता ने तीन साल का स्वामित्व पूरा होने पर 50% के बचे मूल्य पर जेड एस ई वी ग्राहकों को गारंटी बायबैक प्रदान करने के लिए ‘cardekho.com’ के साथ साझेदारी की है .

About Kanhaiya Krishna

Check Also

CAA के समर्थन में दिल्ली विश्वविद्यालय के बुद्धिजीवी, शिक्षक और छात्रों ने आयोजित किया ओपन टॉक

CAA के समर्थन में दिल्ली विश्वविद्यालय के बुद्धिजीवी, शिक्षक और छात्रों ने आयोजित किया ओपन …

Nirbhaya Case

Nirbhaya Case : क्या है दोषियों को फांसी पर लटकाने की क़ानूनी कार्रवाई ?

Nirbhaya Case : क्या है दोषियों को फांसी पर लटकाने की क़ानूनी कार्रवाई नई दिल्ली …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *