अब यात्रियों को RTIS पर मिलेगी ट्रेनों की उपयुक्त जानकारी, इसरों ने प्रारंभ किया निरीक्षण

गोरखपुर । अब यात्रियों की ट्रेन नहीं छूटेगी। रियल टाइम इंफार्मेशन सिस्टम पर ट्रेनों की सटीक सूचना प्राप्त होगी। रेलवे की पहल पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) ट्रेनों की निगरानी करेगा। इसरो अपने सैटेलाइट के जरिये हर पल ट्रेनों को देखता और उनकी गति को पढ़ता रहेगा। इसके लिए भारतीय रेलवे के सभी इंजन जीपीएस से ऑनलाइन किए जाएंगे। इंजनों में जीपीएस आधारित मशीन लगाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

फिलहाल, भारतीय रेलवे के इंजन इसरो से जुड़ने लगे हैं। प्रथम चरण में 2700 इलेक्ट्रिक इंजन जुड़कर कार्य करने लगे हैं। 3800 डीजल इंजन को जोड़ने की प्रक्रिया चल रही है। दूसरे चरण में 6 हजार इंजनों को जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। दिसंबर 2021 तक देश की सभी ट्रेनें इसरो के संपर्क में आ जाएंगी।

हालात ये है की, रेलवे प्रशासन अपने यात्रियों को ट्रेनों की उपयुक्त सूचना नहीं दे पाता। नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम पर भी विलंबित, मार्ग परिवर्तित, निरस्त और स्पेशल ट्रेनों की सही जानकारी नहीं मिल पाती। ठंड के मौसम में कोहरा के समय तो यात्रियों की परेशानी और बढ़ जाती है। स्टेशन पर आने के बाद यात्रियों को पता चलता है कि ट्रेन 24 घंटे लेट है या समय से रवाना हो गई है। अब इसरो के जरिये यात्रियों को ट्रेनों के लोकेशन के बारे में हर पल अपडेट जानकारी मिलती रहेगी। एनई रेलवे के CPRO पंकज कुमार सिंह ने कहा अब यात्रियों को ट्रेनों की पल-पल की उपयुक्त सूचना मिलेगी। अपडेट सूचना देने के लिए रेलवे और इसरो ने संयुक्त रूप से कार्य करना शुरू कर दिया है। दिसंबर माह 2021 तक कार्य पूरा हो जाएगा।

About Kanhaiya Krishna

Check Also

Being Musical Records के बैनर तले बना Punjabi Song Kaali Bindi कल हो रहा है रिलीज़

Punjabi Song Kaali Bindi : Being Musical Records का बहुप्रतीक्षित Punjabi Song Kaali Bindi कल …

Ranji Trophy 2021-22, FINAL: मध्य प्रदेश ने रचा इतिहास, मुंबई को 6 विकेट से हरा पहली बार बनी रणजी चैंपियन

रणजी ट्रॉफी का फाइनल मुकाबला मध्य प्रदेश और मुंबई के बीच खेला गया। जहां 41 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *