Breaking News

खनन माफियाओं ने हजारों बिजलीं उपभोक्ताओं को डाल दिया संकट में

राघवेंद्र तिवारी की रिपोर्ट :

लखनऊ : खनन माफियाओं ने सरकारी जमीन पर इस कदर मिट्टी खोदकर बेच डाली की वहां पर लगे हाईटेंशन लाइन के पोल के अगल बगल भी नही बक्शा जिसके चलते आसपास मिट्टी न होने पर बिजलीं का पोल लटक गया है, जो कि कभी भी गिर सकता हैं और हजारों लोगों को बिजलीं संकट झेलना पड़ सकता है। वही जब इसकी भनक लगने पर बिजलीं विभाग के अवर अभियंता ने मौका मुआयना कर पुलिस व तहसील प्रसाशन को को पत्र लिखकर खनन करने वालो के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। वही ग्रामीणो ने चेतावनी दी है कि जल्द इस मामले में कार्यवाही न हुई तो प्रदर्शन करेंगे।

मोहनलालगंज के मऊ के पास बने मिनी स्टेडियम के पीछे जाने वाली हाईटेंशन लाइन के कई पोल खाली पड़ी सरकारी जमीन पर लगे हुए है। ग्रामीणो ने बताया कि कुछ दिन पहले रातों रात खनन माफियाओं ने वहाँ बने मिट्टी के टीले को समतल कर दिया। यही नही वहां लगे पोल के आसपास का हिस्सा भी नही बक्शा, जिसके चलते लगे पोल लटक गये। ये देखकर ग्रामीणो ने अवर अभियंता राजेश को सूचना दी। इसके बाद मौके पर गये अवर अभियंता ने जांच कर विभागीय अधिकारियों को सूचना देने के साथ तहसील थाने पर लिखित खनन कर बिजलीं लाइन को खतरे में डालने  वालो के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।अवर अभियंता राजेश कुमार ने बताया कि है कि मौका देख लिया गया है। जल्द इन पोलो सही जगह पर लगवा दिया जायेगा।

हजारों उपभोक्ताओं को बिजलीं संकट का खतरा

अवर अभियंता राजेश कुमार ने बताया कि जो पोल खतरे की जगह पर पहुच गये है, उनसे मऊ, दहियर, खुजौली सहित आसपास के हजारों उपभोक्ताओं को बिजलीं जाती है।

कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है

ग्रामीणो ने बताया कि जहाँ ये पोल लटक रहे है वहा आसपास घर भी बन गए है, उन्ही के पास ये लाइन गुजरी है और इसी लाइन के नीचे और आसपास चरवाहे भी जानवर चराया करते है।यदि अचानक कभी भी ये पोल गिर गए तो बड़ा हादसा हो सकता है।

About Kanhaiya Krishna

Check Also

स्वास्थ शिविर में मरीजो की जाँच कर बाँटी गयी नि:शुल्क दवायें

राघवेंद्र तिवारी की रिपोर्ट : लखनऊ : मोहनलालगंज के हंरकशगढी में स्थित विघा हास्पिटल में …

भाँजे को जहर देकर मारने वाले मामा-मामियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज

राघवेंद्र तिवारी की रिपोर्ट : लखनऊ : प्रापर्टी व पैसे के लालच में 21माह पहले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *