आप जियो-जियो जपते रहिये, 4G स्पीड के मामले में हमसे आगे निकला पाकिस्तान 

नई दिल्ली : भारतीय टेलिकॉम सेक्टर में जब से रिलायंस जिओ की एंट्री हुई, अन सभी सेल्लुलर कंपनियों की नींद हरम हो गई है. अन्य कंपनिया जिओ को मात देने के लिए महागठबंधन करने पर उतारू है, वहीँ ट्राई के आंकड़ों का हवाला देते हुए जिओ कहती है कि आप देश के सबसे तेज़ नेटवर्क से जुड़े हुए हैं. अगर आप भी जिओ के फेन हैं, और 4G स्पीड का लाभ ले रहे हैं, तो ये खबर आपको थोड हतोत्साहित कर सकती है, क्योंकि हमारा  चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान 4G स्पीड के मामले में हमसे आगे है.

ओपन सिग्नल की एक रिपोर्ट से यह बात सामने आई है कि भारत में 4जी की ऐवरेज डाउलोडिंग स्पीड सिर्फ 5.1 एमबीपीएस है। जबकि ग्लोबल एवरेज 4जी स्पीड 16.2 एमबीपीएस है। ओपनसिग्नल की रिपोर्ट के अनुसार 4जी स्पीड के मामले में भारत 74वें नंबर है। ओपन सिग्नल की रिपोर्ट में कुल 75 देशों की लिस्ट जारी की गई है, जिसमें भारत का स्थान 74वां हैं। ऐसे में भारत ग्लोबल 4जी स्पीड यानी 16.2 एमबीपीएस की तुलना में काफी कम (5.1 एमबीपीएस) है।

ओपन सिग्नल की रिपोर्ट के अनुसार भारत में 4जी की स्पीड पाकिस्तान और श्रीलंका से भी कम है। भारत की 4जी स्पीड सिर्फ कोस्टा रिका से तेज है, बाकी सभी से भारत पीछे है। 4जी स्पीड के मामले में नंबर-1 है सिंगापुर। वहीं दूसरी ओर, 3जी स्पीड की बात करें तो डाउनलोडिंग स्पीड 1 एमबीपीएस से भी कम है। यह स्पीड घटकर 10 केबीपीएस तक भी पहुंच जाती है।

ओपन सिग्नल की रिपोर्ट के मुताबिक सिंगापुर में 4जी डाउनलोडिंग स्पीड 46.62 एमबीपीएस है और इसी के चलते सिंगापुर इस लिस्ट में पहले नंबर पर है। वहीं दूसरे नंबर पर 43.46 एमबीपीएम की 4जी डाउनलोडिंग स्पीड के साथ दक्षिण कोरिया दूसरे नंबर पर है। इस सूची में 68वें नंबर पर पाकिस्तान है, जहां 4जी डाउनलोडिंग स्पीड 11.7 एमबीपीएस है। इस लिस्ट में भारत 5.1 एमबीपीएस की 4जी डाउनलोडिंग स्पीड के साथ नीचे से दूसरे स्थान पर यानी ऊपर से 74वें स्थान पर है।

About Kanhaiya Krishna

Check Also

यूपी : सुल्तानपुर से वरुण गांधी की जगह बीजेपी से प्रेम शुक्ला की उम्मीदवारी लगभग तय !

वागीश कुमार की रिपोर्ट : सुल्तानपुर : मौजूदा सांसद वरुण गांधी कें पीलीभीत से चुनाव …

गुजरात में गरजे राहुल-प्रियंका – एक तरफ गोडसे- दूसरी तरफ प्यार, चुनना आपको है

द्वारकेश बर्मन की रिपोर्ट : गुजरात : इस चुनाव में कई सारी भटकाव वाली बातें …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *