पीएम मोदी ने देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल को राष्ट्र के नाम किया समर्पित

आशीष गौरव पांडेय की रिपोर्ट :

वाराणसी : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वाराणसी के रामनगर में बने देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल को राष्ट्र के नाम समर्पित किया। इसके साथ ही वाराणसी-हल्दिया जलमार्ग का उद्घाटन करते हुए वाराणसी को पहला कंटेनर डिपो भी सौंपा। इस पूरे जलमार्ग की लंबाई 1400 किलोमीटर है। 206 करोड़ की लागत से बने इस टर्मिनल से वाराणसी से दक्षिण एशियाई देशों में सामान सीधे भेजा जा सकेगा। इसी के साथ गंगा में वाराणसी से हल्दिया के बीच जल परिवहन शुरू हो गया और दक्षिण एशियाई देशों से काशी जलमार्ग से सीधे जुड गया टर्मिनल की जेटी पर हलीकॉप्टर से उतरे पीएम ने सर्वप्रथम टर्मिनल का लोकार्पण किया। इसके बाद जल परिवहन की योजनाओं की जानकारी हासिल कीं और इसको विकसित करने के लिए शुभकामनाएं दीं। इस दौरान उन्होंने कोलकाता से रवींद्र नाथ टैगोर जलपोत से आए पेप्सिको के 16 कंटेनर प्राप्त किए। लोकार्पण के इस अवसर के उद्यमी और व्यापारी भी बने। 12 अगस्त, 2016 को इसका शिलान्यास किया गया था। दो साल तीन महीने में इसे तैयार किया गया है।



3:17 बजे प्रधानमंत्री का हेलीकॉप्टर नवनिर्मित जेटी पर उतरा। वहां से हैंगर में बने विशेष कक्ष में गए, जहां उन्हें टर्मिनल का मॉडल दिखाया गया। साथ ही देश में जल परिवहन के विकास योजनाओं, इससे होने वाले लाभ, भावी योजनाओं की जानकारी दी गई। इसके बाद मंच पर आईडब्लूएआई के चेयरमैन प्रवीर पांडेय ने उनका स्वागत किया। यहां उन्हें जल मार्ग के विकास पर बनी शॉर्ट फिल्म भी दिखाई गई।

फिर रिमोट दबाकर प्रधानमंत्री ने टर्मिनल का लोकार्पण किया। तत्पश्चात पीएम जेटी पर बने मंच से रिमोट दबाकर मोबाइल हार्बर क्रेन को स्टार्ट किया। क्रेन से जलपोत पर लोड 16 कंटेनर में से एक को उठाकर जेटी पर रखा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांकेतिक तौर पर हरी झंडी दिखा कर कंटेनर प्राप्त करने का इशारा किया इसके बाद वह लगभग चार बजे हेलीकॉप्टर से ही बाबतपुर रवाना हो गए। पीएम मोदी 40 मिनट से ज्यादा देर तक यहां रहे। उनके साथ केंद्र जल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय भी मौजूद रहे।
बन रहे हैं तीन और टर्मिनल



एनडब्ल्यू-1 (हल्दिया-वाराणसी)पर निर्मित होने वाले चार चार मल्टी मॉडल टर्मिनलों में पहला है। अन्य तीन टर्मिनल साहिबगंज, हल्दिया और फरक्का में बन रहे हैं। बिहार और पश्चिम बंगाल से होकर जलमार्ग-1 गुजरता है। पीएम द्वारा उद्घाटित वाराणसी के मल्टी मॉडल टर्मिनल को 206 करोड़ की लागत से तैयार किया गया है। टर्मिनल की 200 मीटर लंबी और 45 मीटर चौड़ी जेटी पर माल की लोडिंग तथा अनलोडिंग के लिए दुनिया की अत्याधुनिक हैवी क्रेन लगाई गई है।


About Kanhaiya Krishna

Check Also

जिला निर्वाचन अधिकारी ने हरी झण्डी दिखा कर रैली को किया रवाना

चन्दौली 25 मार्च  मतदाता जागरूकता अभियान में स्वीप कार्यक्रम के अंतर्गत जिला निर्वाचन अधिकारी  नवनीत …

आवारा पशुओं के चक्कर मे बोलेरो खाई में कूदी, चालक की हालात गंभीर

राघवेंद्र तिवारी की रिपोर्ट : लखनऊ : लखनऊ से निगोहां आ रही एक बोलेरो निगोहां …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *