Breaking News

बाराबंकी : सरकारी भूमि पर धान की खेती कर रहे भूमि माफिया, भूमाफियाओं को प्रशासन का अभयदान

राम धीरज यादव की रिपोर्ट :

बाराबंकी : सुबेहा थाना क्षेत्र में तहसील प्रशासन की मिलीभगत के चलते भूमाफिया सरकारी जमीन पर कब्जा करके धान की फसल उगाकर खेती कर रहे हैं। भूमाफियाओं को प्रशासन द्वारा दिए गए अभयदान के चलते परगना सुबेहा क्षेत्र के लगभग एक दर्जन गांवों में लगभग 400 बीघा भूमि जो कि उत्तर प्रदेश राजस्व परिषद के राजस्व विभाग के द्वारा सरकारी अभिलेखों में सरकारी कामकाज के लिए सुरक्षित रखी गई है। इन जमीनों पर सरकार का नहीं भू माफियाओं का वर्चस्व कायम है।



ग्राम जारमऊ की चारागाह की भूमि एक दर्जन अलग-अलग गाटा संख्या में दर्ज है जिसका रकबा 15.7540 हेक्टेयर है। मेहंदिया मे 22.3850 हेक्टेयर, बलीपुर 2.1930 हेक्टेयर, बली गेरावा 4.1930 हेक्टेयर, चिरैया 2.5170 हेक्टेयर, सराय गोपी 0.3520 हेक्टेयर, गेरावां 20.7150 हेक्टेयर, चौबीसी 1.0560 हेक्टेयर, रोहना मीरापुर 6.9260 हेक्टेयर, मंगौवा 18.5920 हेक्टेयर।

पशुचर भूमि पशुओं के चारे के लिए राजस्व अभिलेखों में सुरक्षित है। इस भूमि पर राजस्व प्रशासन की मिलीभगत के चलते भू माफिया इस भूमि पर खेती कर रहे हैं। इसके अलावा ग्राम बम्हरौली आईमा की तालाबीय भूमि की गाटा संख्या 1,79,75,77,212,228,264,266,283,378 जोकि तालाबीय खाते में दर्ज है , इस भूमि पर धान की फसल वर्तमान समय में उगाई गई है।



जनपद में चलाए गए एंटी भू-माफिया अभियान के तहत भी इन माफियाओं को बेदखल नहीं किया गया, जबकि जनपद के जिलाधिकारी सहित उत्तर प्रदेश राजस्व परिषद के अध्यक्ष सहित दर्जनों बार पूर्व ग्राम प्रधान एवं ग्राम पंचायत सदस्यों द्वारा चारागाह एवं तालाब की भूमि पर काबिज अवैध कब्जेदारों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग भी एक नहीं कई बार की जा चुकी है। इसके बाद भी सरकारी भूमि पर काबिज कब्जेदारों के विरुद्ध तहसील हैदरगढ़ का प्रशासन अभियान नहीं चला सका, जिसके चलते ग्रामीण प्रशासन पर भूमाफियाओं से मिलीभगत की आशंका व्यक्त कर रहे हैं।

ग्राम प्रधान कोलवा पर ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व प्रधान शिव सागर रावत तथा वर्तमान प्रधान गुरुदेई ने तालाब की भूमि पर धान की फसल उगा रखी है, जो कि नियम कानून के विरुद्ध है। ऐसे जनप्रतिनिधियो के विरुद्ध हैदरगढ़ तहसील के राजस्व प्रशासन को कठोर कार्यवाही की जानी चाहिए। इस संबंध में हैदरगढ़ तहसील के तहसीलदार से संपर्क साधा गया तो उन्होंने कहा कि जांच करवा कर उचित कार्यवाही कराएंगे। राजस्व निरीक्षक सुबेहा ने कहा कि उन्हें इस प्रकरण की कोई जानकारी नहीं है।


Check Also

कुश्ती में पहलवानों ने आजमाएं दांव पेंच,प्राचीन मेले का हुआ समापन

  बालमुकुन्द रायक्वार की रिपोर्ट   बुन्देलखण्ड के झांसी जनपद के पूछ थानान्तर्गत ग्राम महाराजगंज …

शिवपाल यादव ने मुलायम को उनके जन्मदिन पर दिया ये ख़ास तोहफा

लखनऊ : उत्तर-प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री, सपा के पूर्व प्रमुख और वर्तमान में सपा संरक्षक, …