Breaking News

यूपी : का पैरामेडिकल कॉलेज के नाम पर बड़े फर्जीवाड़े खुलासा, अधर में लटका छात्रों का भविष्य

विजयनाथ चक्रवर्ती की रिपोर्ट :

बस्ती : जनपद में माँ वैष्णो पैरामेडिकल कॉलेज के नाम पर बड़े फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है। बड़ी संख्या मे छात्रो से लैबटेक्नीशियन,ए एन एम,जी एनएम, की ट्रेनिंग के नाम पर अवैध रकम वसूली जा रही थी। सभी छात्र-छात्राओ से मैनेजमेण्ट ने 65 हजार से 85 हजार रूपये फीस लेकर फर्जी मार्कशीट थमा दिया था। पीड़ित छात्र-छात्राओ ने डीएम कार्यालय पहुंचकर डीएम बस्ती का घेराव करते हुए आप बीती सुनाई। वहीं जिलाधिकारी ने मामले को संज्ञान मे लेते हुए कॉलेज के प्रति जांच करने का निर्देश जारी कर दिया।



दरअसल जनपद के सदर कोतवाली के मड़वानगर मे मॉ वैष्णो पैरामेडिकल कॉलेज विवादो मे घिर गया है।कॉलेज मे पढ़ने वाले छात्र-छात्राओ ने फर्जी डिग्री देने का आरोप लगाते हुए डीएम से जांच की मांग की। छात्रो का कहना है कि जब इन लोगो ने डिग्री को रजिस्ट्रेशन कराने के लिये मेडिकल काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश ले गये तो वहां की लिस्ट मे मॉ वैष्णो पैरामेडिकल कॉलेज का नाम ही नही था, जिसके बाद उनको बताया गया कि यह डिग्री फर्जी है।



फर्जी डिग्री को लेकर पीड़ित छात्र-छात्राओ और उनके परिजनो ने बताया कि जब इस फर्जीवाड़े की बात मैनेजमेण्ट से की जाती है तो वे मारने की धमकी देते हैं। दूसरी तरफ पैरामेडिकल के प्रबंधक आर सी वर्मा ने छात्र-छात्राओ के आरोपो को गलत बताया है। प्रबंधक का कहना है कि मैने सारे डॉक्यूमेण्ट सी एम ओ को जमा कराये हैं।



वहीं डिप्टी सी एम ओ सी एल कन्नौजिया ने बताया कि मॉ वैष्णो पैरामेडिकल कॉलेज के लिये गये लेकिन उस समय उनका कोई साक्ष्य नही दिया गया। बाद में वे लोग कुछ पेपर लेकर आये। उसमें मेडिकल काउंसिल ऑफ इण्डिया का लेटर तो है लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार का कोई लेटर नहीं है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इण्डिया के लेटर मे कहीं भी मॉ वैष्णो पैरामेडिकल कॉलेज का नाम नहीं है, जिससे लगता है कि मॉ वैष्णो पैरामेडिकल कॉलेज फर्जी है।


Check Also

सौ कुन्तल तक धान बेचने के लिए सत्यापन की जरुरत नहीं,अवकाश में भी होगी खरीद-जिलाधिकारी

  अब जिले में किसी भी केंद्र पर धान बेच सकता है किसान   लघु …

कुश्ती में पहलवानों ने आजमाएं दांव पेंच,प्राचीन मेले का हुआ समापन

  बालमुकुन्द रायक्वार की रिपोर्ट   बुन्देलखण्ड के झांसी जनपद के पूछ थानान्तर्गत ग्राम महाराजगंज …