तमिलनाडू में हिन्दू रामलिंगम की वीभत्स हत्या !

आज हिन्दू संघर्ष समिति ने तमिलनाडू में हिन्दू रामलिंगम की वीभत्स हत्या के विरोध मे उन्हें न्याय दिलाने के विजय चौक पर रोष प्रदर्शन किया । हिन्दू संघर्ष समिति हमेशा PFI का विरोध किया है तथा उसके ख़िलाफ़ जागरूकता फैलाने हेतु PFI की पोल खोलने वाली एक बुकलेट भी जारी की थी । हिन्दू संघर्ष समिति के झारखंड के अध्यक्ष विनय सिंह की अपील पर झारखंड मे लव जेहाद और ज़मीन क़ब्ज़ाओ जेहाद के साथ साथ देश विरोधी गतिविधियों के संचालन मे लिप्त पाये जाने पर , झारखंड सरकार ने इस पर बैन लगाया है । अब हिन्दू संघर्ष समिति इस पर पूरे देश मे बैन लगाने की मॉंग कर रही है । समिति के दिल्ली के नेता विशाल कुमार शाक्य ने कहा देश की मीडिया ने बड़ी मेहनत से PFI के आतंकी मॉड्यूल की पोल खोली है , उसके बावजूद भी सरकार इस पर तुरंत प्रभाव से देश व्यापी बैन क्यूँ नही लगा रही ये हैरानी की बात है ? दक्षिण भारत के सौ से ज्यादा संघ और अन्य हिन्दू संगठनों के नेताओं की लक्षित हत्या मे PFI की सीधे संलिप्तता के सबूत मिले है ।इस्लामिक स्टेट और अन्य आतंकी संगठनों से PFI के सीधे संबंध है , ये सिमी और इंडियन मुजाहिदीन का नया स्वरूप है । ये लोग ज़बरन धर्मातरण , मजहबी उन्माद फैलाने , हत्यायें करने मे लिप्त है । इनके कार्यकर्ताओं से हथियार और गोला बारूद भारी मात्रा मे बरामद हुआ है । समिति के महामंत्री विद्या भूषण जी का कहना है आरोपियों को जब अदालत लाया जा रहा था तो 2000 से ज्यादा मजहबी उन्माद से भरे PFI कार्यकर्ता और 500 से ज्यादा बुर्कानशीँ मुस्लिम महिला कार्यकर्ताओं की भीड़ सड़क के दोनो ओर खड़े हो कर तालियां बजाते हुये और अल्लाह हू अकबर चिल्लाते हुये रामलिंगम के हत्यारे को अपना समर्थन दे रही थी ।

PFI ने इन चारों को हर प्रकार की विधिक सहायता देने की घोषणा करते हुये इनके परिवारों के आजीवन देखभाल के खर्चे के साथ साथ वकीलों और विधिक खर्चे की पूरी जिम्मेदारी उठाने की घोषणा की है ।इस हेतु एक अभियान भी चलाया जा रहा है जिसमें तमिलनाडु और केरल सहित दुनिया भर के तमाम मुसलमानों (भारत के अन्य राज्यों में रहने वाले इस्लामिक राक्षसों सहित खाड़ी देशों में कार्यरत NRI रक्षसों से भी) आर्थिक सहयता देने की अपील की जा रही है । 10 फरवरी 2019 को दोपहर 2 बजे तक इस हेतु 32 लाख 78 हज़ार 800 रुपये जमा किये जा चुके हैं ।आज तक का ऑंकडा एक करोड़ ,सात लाख , छत्तीस हज़ार है ।

 

 

इस अवसर पर तमिलनाडू के हिन्दू नेता श्री अर्जुन संपत ने कहा कि ये घटनाये सरकार की ऑंखें खोलने हेतु पर्याप्त है मै आज के रोष प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे बीरेन्द्र कुमार और सुश्री दीक्षा कौशिक के साथ सरकार को ज्ञापन देता हूँ कि वो PFI को तुरंत प्रभाव देश भर मे बैन किया जाये । धरने मे सुप्रीम कोर्ट के अघिवक्ता अभिषेक शर्मा , अमित कुमार , अंकित मिश्रा पुन्नूस्वामी , बलदेव सिंह चीमा और हंसराज कुमार इत्यादि मौजूद रहे ।

About बी. एन. मिश्रा

Check Also

नाबालिग के साथ दरिंदगी, पुलिस के हत्थे चढ़ा दरिंदा

सन्तोष शर्मा की रिपोर्ट : बलिया : बांसडीह कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में बुधवार …

मथुरा में विश्वविख्यात लड्डू होली का आयोजन, बरसाने व वृन्दावन से नंदगाव आया बृषभान का बुलावा

द्वारकेश बर्मन की रिपोर्ट : मथुरा : तीर्थनगरी के मंदिरों में भले ही होली की …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *